आल केटेगरी

पटटी गुज्‍डु मे बाध बना रहा मवेशियो को निवाला इंसानो को खतरा।अधिकारी कर्मचारी राजनेताओ की शह पर

रिपोर्ट  संध्‍या रावत    28 दिसम्‍बर21.30 pm

 

पट्टी गुज्‍डु धुमाकोट तहसील के गांव दिगोली सिरखेत बिरखेत बराथ गांव मे पिछले के समय से दो बाधो का खतरा लगातार बना है पर वन विभाग के लोग कितने लापरवाह है आप समझ सकते है कुछ हवा देवी मे मैच देखने मे मस्‍त है कुछ बहाने और राजनिति सह पर यह बात संज्ञान मे तब जब कल परसों रात से दो बाघ रात से कल सांय तक वही आस पास वह भी घर की चौखट से 50 गज की दुरी पर देखे गए और लडते भी देखे गए वन विभाग धुमाकोट पर फोन करने पर मामला किनगोडीखाल की तरफ का बता कर कमलेश ध्‍यानी अधिकारी का नम्‍बर दिया गया उनसे जब बताया गया और वकायदा पत्र द्वारा लिखित मे दिया गया और बताया गया की बाध वही आस पास है बिरखेत सिरखेत मे लोग कम होने की वजह से वहां पर बुजूर्ग है और वह रात से कमरे मे बंद है एंव गाय बकरी भी अंदर है अधिकारी ने तुरंत संज्ञान की बात कही और चार लोग तुरंत भेजने की बात कही लगा प्रशासन इतना भी सुस्‍त नही है यह बात कल सुबह मंगलवार 27 दिसम्‍बर की है पर मजे की बात की नेताओ से बात करने के बाद कल रात तक गांव मे यह सुचना दे दी गई की वन विभाग के लोग आ रहे है उन्‍होने वहां पर दो दिन रुकने की बात की है गांव मे लोग इंतजार करते रहे की कुछ हल होगा परंतु  जब आज तक नही पहंचे तो अधिकारी कमलेश से पुछा तो उनका कहना मे रात प्रधान विजय पाल के यहां था पटाखे छोडे गए हम पहूंच रहे है आज नीचे गांव मे और तुरंत लोग भेजे जा रहे है सुबह प्रधान से बात की प्रधान ने कहा कोई नही आया हां फोन आया था।  उसके बाद किसी औरकर्मचारी का फोन आया की मे बराथ मे हूं आ रहा हूं दोपहर को फोन किया तो कहा गया मै बराथ से निकला अचानक दरगाशी मे किसी कुत्‍ते को बाध ले गया आना पडा  पता करने पर पता चला की वह क्रिकेट मैच मे मस्‍त है झुट पर झुट साथ मे कहता है सर चिंता न करे वह बकरी खा रहा है सब पता है आदमी को कुछ नही करेगा यानि गाय बकरी गाजर मुली है जो आसमान से टपकी है इनकी कोई किमत नही बाद मे कहता है भटोरो का कोई दीपक है उसको बता दो मे आ रहा हूं  रहने का हो जाऐगा मैने कहा हां यानि अधिकारी कमलेश की तरह अपनी सुविधा पर ही आएगा ।  राज 9 बजे है यह खबर बनाते अभी तक कुछ अता पता नही यानि कल 10 बजे सुबह से 34 धण्‍टे हो गए कोई नही बस आ रहे है पटाखे छोड रहे कहां हवा देवी मे यानि  मैच या अन्‍य काम जरुरी है इंसान और गाय बकरी की कोई किमत नही माना स्‍टाफ कम सुविधा कम पर जिम्‍मेदारी किसकी  झुठ पर झुठ बोला जा रहा है यह प्रशासन से जवाब चाहिए की यही काम की सैलरी क्‍या बता सकते है  कल से अभी तक क्‍या काम जरुरी रहा होगा जिसकी वजह से झुठ पर झुट बोला जा रहा है

बता दे की दिगोली मे 5 या 6 बकरी सिरखेत से 4 केस हाल फिलहाल बिरखेत से एक बराथ मल्‍ला से 1 बराथ तल्‍ला मे बैलो पर हमला यह लगातार जारी है। लोग गाय बकरी रखे तो किसलिए । यह लगातार केस हो रहे है पर मजे की बात प्रधान का पता सब पर  देखे वह भी कुछ नही कहता वह अपने कामेा मे व्‍यस्‍त क्‍यों इन सरकारी कर्मचारियों को सह इसलिए न नेता न कर्मचारी कार्य करते है।  राजनेतिक सह न होती तो शायद काम करने की आदत होती । और यह कहते है गांव मे संदेश देते है  गांव वालो को कहा गया यदि दिखे तो बताना, यानि हमला कर दे बाध तो बाध को कहे रुक पहले फोन कर ले। सरकार प्रशासन जवाब दे। पट्टी गुज्‍डु के लोग से अनुरोध की सतर्क रहे और आवाज उठाए ।

 

Related Posts

  1. भगतसिंह रावत says:

    आदरणीय जिज्ञासु जी को नमस्कार,
    आपने बहुत अच्छा विषय उठाया है संज्ञान के लिये। कृपया अपने लेख को और अधिक एडिट करें। लेख में स्पेलिंग की बहुत सारी गलतियां हैं उन्हें सुधारें। पाठकों पर बड़ी कृपा होगी

    • जगमोहन जिज्ञासु says:

      sahi kaha sir jaldi jaldi main job mainkhaan hindi ki adat nahi per kosis ki hay thanks for reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *