आल केटेगरी दिल्‍ली एन सी आर

उत्‍तराखण्‍ड की निर्भिया का दोषी कौन को लेकर इंदिरापुरम मे बैठक कर आगे की रणनीति पर चर्चा।

बिटिया अनामिका का दोषी – आख़िर कौन ❓

इस विषय को लेकर ट्रांस हिंडन क्षेत्र इंदिरापुरम, वैशाली तथा कौशाम्बी के प्रभुद्ध लोगो की एक बैठक का आयोजन वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता  संजय चौहान  के निवास 62-ए, एचआईजी, फ़्लैट्स, अभय खंड -I, नजदीक पुलिस चौकी इंदिरापुरम गाजियाबाद में सम्पन्न किया गया….!

बैठक में अनामिका बिटिया के हत्यारों को जिस तरह से माननीय सुप्रीम कोर्ट ने बरी किया है, उस पर चर्चा हुई, सभी उपस्थित सदस्यों का कहना था की, माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पूरा देश निराश और स्तब्ध है, जिस बिटिया के साथ, निर्भया बिटिया जैसी ही दरिन्दगी के बाद हत्या की गई थी, वह भी निर्भया के साथ हुई दरिन्दगी से भी 10 महीने पहले, 9 फरवरी, 2012 को, उस बिटिया के हत्यारों का इस तरह बरी होने से पूरा देश निशब्द है…!
यह निराशा पूरे देश मे धरना प्रदर्शन और केंडिल मार्च के रूप में जगह – जगह देखी भी जा रही है, दिल्ली में जगह – जगह इस संदर्भ में बैठके की जा रही है, और इस केस पर आगे क्या किया जाए इस पर गम्भीरता से विचार हो रहा है..!

इस कारण गाजियाबाद क्षेत्र के सर्व समाज को भी इस दिशा में पहल करनी चाहिये, यह सभी उपस्थित लोगों का मत था, जल्दी ही इस फैसले के खिलाफ रिव्यू पेटिशन दाखिल की जायेगी, उसी दौरान सरकार और न्यायालय पर सही न्याय के लिए सामाजिक दवाब के माध्यम से जगह – जगह धरना प्रदर्शन और मार्च का आयोजन करने का आह्वान भी इस, इन धरना / प्रदर्शन को जन आंदोलन बनाया जाएगा, और जल्द ही दिल्ली के जंतर मंतर पर इस फैसले के खिलाफ एक विशाल धरना आयोजित होगा, जो वर्तमान में हो रहे धरना प्रदर्शन की परिणीति होगी..!

बैठक में सभी लोगो से यह निवेदन भी किया गया है कि, बिटिया को न्याय की रोशनी दिलाने के लिये, तय कार्यक्रम के अनुसार, सभी लोग *आगामी रविवार 20 नवम्बर, 2022 को, दिवंगत बिटिया के नाम से एक – एक दिया प्रज्वलित कर श्रद्धाजंलि अर्पित करेंगे..!

केंडिल की श्रंखला की पहली कड़ी में – पहला केंडल मार्च, आगामी शनिवार, 19 नवम्बर को शाम 6 बजे से, न्याय खण्ड – 1 के सुभाष पार्क (निकट शनि बाज़ार चौक) से आरंभ की जाएगी, और उसके पश्चात लगातार इस तरह के प्रदर्शन अन्य क्षेत्रों में भी क्रमवार आयोजित किये जाते रहेंगे..!

बैठक में सर्वसम्मति से यह तय हुआ कि, जल्दी ही एनसीआर क्षेत्र गाजियाबाद की कई कालोनियों में सर्व समाज के सहयोग से धरना प्रदर्शन और केंडिल मार्च के आयोजन कर माननीय सुप्रीम कोर्ट से यह निवेदन किया जाएगा कि यदि ये लोग दोषी नही – तो फ़िर दोषी कौन ❓
उन दोषियों की पहचान कर उन्हें जल्द से जल्द जेल की सलाखों के पीछे डाला जाए..!.
आज की बैठक में यह भी निर्णय हुआ कि सर्व समाज के सभी प्रबुद्ध सामाजिक लोगो, दिल्ली – एनसीआर में सक्रिय सामाजिक समितियों से विचार विमर्श कर इसके लिये दिशा तय की जाए तथा सभी की ओर से भी पहल हो कि, अनामिका बिटिया को न्याय मिले…उनके असली गुनहगारों – उन निर्मम वहशी हत्यारों को उनके किये की सज़ा मिले… देश मे कानून का राज स्थापित हो…और बिटिया के साथ हैवानियत करने वाले उन नर पिशाचों को जल्द से जल्द कानून के शिकंजे में लाये..!

आज की बैठक में, उत्तराखण्ड एकता समिति इंदिरापुरम, धरोहर इंदिरापुरम, नई पहल नई सोच, गर्जिया सोसाइटी, पूर्व सैनिक संगठन, सर्च माई चाइल्ड फाउंडेशन, उत्तराखंड महासंघ- गाजियाबाद, मानव अधिकार मिशन,तथा ट्रांस हिंडन आदि समिति से  दिनेश घिल्डियाल , किशोरी लाल ममगई, खुशहाल बिष्ट जी, राजेन्द्र रावत जी, जगमोहन सिंह रावत, संजय चौहान, उमेश बन्दूनी, शैलेंद्र सिंह, श्रीमती कुसुम कंडवाल भट्ट , हंसा तिवारी, पंडित नरेंद्र जदली, जगदीश रावत, मदन बिष्ट, बॉबी रावत, हरीश कडाकोटी, शिवराज रावत,शलेंन्द्र सिंह, संदीप रावत, दिलबर सिंह बिष्ट, मनीष सेनगुप्ता, रविन्द्र सिंह , पुरन जी, गीता चौहान, प. वीरेंद्र जुयाल ‘उपिरि’ सहित कई अन्य सामाजिक लोगो ने इस बैठक में हिस्सा लेकर अपने विचार साझा किए…!

अन्‍य खबरो के लिए हमारे युटयुब चैनल को सबस्‍क्राईब करे शेयर करे                                                 https://www.youtube.com/channel/UCVCkmiPBWlGDz-Vyi8c2Xlg

फेसबुक पेज https://www.facebook.com/groups/voiceofmountains

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *